Electric Auto Rickshaw in Delhi | Male Female e-Auto

ऑटो रिक्शा चालकों के लिए खुशखबरी

दिल्ली के परिवहन मंत्री कैलाश गहलोत ने पेट्रोल और डीजल के दामों में बढ़ोतरी को देखते हुए दिल्ली के ऑटो रिक्शा चालकों के लिए खुशखबरी की खबर ला दी है| जैसा की आप सभी जानते है कि महंगे पेट्रोल और डीजल के दामों के बीच देश में इलेक्ट्रिक वाहनों (Electric Vehicles) की मांग लगातार बढ़ रही है|

E-Auto
E-Auto

इसलिए परिवहन मंत्री कैलाश गहलोत ने शुक्रवार को दिल्ली के e-Auto Rickshaws चालकों के लिए खुशखबरी भरी सूचना जारी कर दी है| उन्होंने कहा कि दिल्ली की सड़कों पर अगले 2 महीनों में 100 से ज़्यादा बिजली (Electric Bus) से चलने वाली बसें और हजारों इलेक्ट्रिक ऑटो रिक्शा दौड़ेंगे|

दिल्ली में चलेंगे इलेक्ट्रिक ऑटो रिक्शा

हाल ही में दिल्ली सरकार ने दस महिलाओं समेत पहले बीस चालकों को एलओआई (Letters of Intent) दिया है| इस सम्बन्ध में ई-ऑटो रिक्शा चालकों को एलओआई (Letters of Intent) भी दिया गया है,  जो की एक तरह से  ई-ऑटो रिक्शा चलाने के लिए परमिट होता है| इसके साथ ही उन्होंने कहा की दिल्ली में जल्द ही सैकड़ों इलेक्ट्रिक बसें और हजारों ऑटो रिक्शा सड़को पर दौड़ेंगे|

कैसा होगा इलेक्ट्रिक ऑटो रिक्शा का रंग

परिवहन मंत्री कैलाश गहलोत ने कहा की महिलाओं द्वारा  ‘लाइलैक’ (हल्का बैगनी) रंग का इलेक्ट्रिक-ऑटो रिक्शा  चलाया जायेगा वही दूसरी ओर पुरुष ड्राइवर नीले  रंग का इलेक्ट्रिक ऑटो रिक्शा चलाएंगे. ये काफी नया प्रयोग होगा की महिला चालक अलग रंग का Electric Auto Rickshaw चलाएंगी और पुरुष चालक अलग रंग का इलेक्ट्रिक ऑटो रिक्शा चलाएंगे|

इलेक्ट्रिक ऑटो रिक्शा से क्या होगा लाभ

दिल्ली के लोगों के लिए ये किसी वरदान से कम नहीं होगा कि देश में सबसे ज़्यादा प्रदूषित रहने वाला  शहर अब धीरे धीरे इस प्रकार के इलेक्ट्रिक वाहनों के आ  जाने  से अब काम प्रदूषित होगा | लेकिन ये प्रयोग तभी सार्थक होगा जब लोग भी इलेक्ट्रिक वाहनों की उपयोगिता को समझेंगे |  संभवतः इलेक्ट्रिक वाहनों के आ  जाने से जो सबसे बड़ा लाभ होगा वो ये कि  वातावरण में शुद्धि  देखने को मिलेगी |

 दस महिलाओं के साथ कुल बीस लोगों को मिला आशय पत्र (एलओआई)

10 महिलाओं के साथ कुल 20 लोगों को आशय पत्र (Letters of Intent) मिला है| किन्तु  दिल्ली सरकार को 4261 इलेक्ट्रिक-ऑटो के लिए कुल 20 हजार से ज़्यादा आवेदन मिले थे, जिनमें से 19 हजार से ज़्यादा पुरुष आवेदक थे शेष 743 महिला आवेदक थीं| 2855 पुरुष आवेदक कंप्यूटराइज्ड ड्रॉ चुने गए हैं और 285 वेटिंग लिस्ट में रखे गए है |  लेकीन अगर हम महिला आवेदकों की बात करें तो केवल 743 महिलाओं ने ही  इलेक्ट्रिक-ऑटो रिक्शा के लिए आवेदन किया जो कि आरक्षित की गयी संख्या से भी कम थे | बहरहाल  जिन महिलाओं आवेदन किया है, उनको लेटर जारी किए जा रहे हैं| ताकि जो 663 इलेक्ट्रिक-ऑटो रिक्शा बचे हुए हैं, वो भी पात्र महिलाओं को ही अलॉट किया जा सके|

देश में किन स्थानों पर फिलहाल चल रहे है इलेक्ट्रिक वाहन

वर्तमान में देश के 9 बड़े शहरों में इलेक्ट्रिक वाहन ज़्यादा चल रहे हैं  और इन शहरों में इलेक्ट्रिक वाहनों के चार्जिंग स्टेशनों की संख्या पिछले चार महीनों में ही ढाई गुना तक बढ़ चुकी है|  ईवी चार्जिंग स्टेशनों की संख्या में ढाई गुना का इज़ाफ़ा होने का अर्थ है कि आने वाले समय में इलेक्ट्रिक वाहन काफी ज़्यादा उपयोग में लाये जा सकते है | दिल्ली, मुंबई, चेन्नई और कोलकाता समेत नौ प्रमुख शहरों में ईवी चार्जिंग स्टेशनों की स्थापना का काम जारी है | आने वाले कुछ वर्षों में धीरे धीरे पुरे देश में इलेक्ट्रिक वाहनों का उपयोग पूरी तरह होने लगेगा |

About Roma

Hello All, I am ROMA welcomes you all to my website electric-car-hut. I build this website for spreading the information about the Electric Vehicles and its benefits.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

19th World Car of The Year Award 2023 | Hyundai Ioniq 6 Game Changer 😱GM Overtakes Ford to 2nd Position in US खुशखबरी! 12 राज्यों में HPCL पेट्रोल पंप पर लगेंगे 500 EV चार्जर टाटा की ये कार IPL में दिखेगी बार बार | IPL Title Sponsor MG Motors की शानदार कर भारत में लांच | MG Comet EV